जीवन में आगे बढ़ने की होड़

 दो चिड़िया आकाश में उड़ रही थी तभी उनके बगल से एक जहाज गुजरी। एक चिड़िया ने दूसरी से बोला " दीदी हम भी आसमान में उड़ रहे हैं ये भी उड़ रही है, हमें भी पंख है इसमें भी पंख है, लेकिन इसमे ऐसा क्या है जो ये हमस पीछे आई और हमस आगे निकल गयी" । 

दूसरी चिड़िया बोली " इसकी पूँछ में आग लगी हुई है इस लिए ये बाद में आई और हमसे आगे निकल गयी जिस तुम्हारे भी पूँछ में आग लग जायेगी तुम भी इसक जैसा तेज उड़ने लगोगी"। 

ये तो एक उदाहरण था जो एक प्रेरणा देता है कि इंसान को किसी काम को करने के लिए दृढ़ इच्छा शक्ति होनी चाहिए और उसको पूरा करने के लिए कार्य शैली को गतिशील (Speed up) करना होगा। यू तो जिंदगी में आगे बढ़ना सबका मकसद होता है लेकिन उस मकसद को हासिल करने का हुनर किसी किसी को ही रहता है जो अपना उत्तम प्रयास करता है और मकसद मे कामयाब होता भी है। 

बिना किसी रणनीति के कोई भी काम सफल नहीं होता है। साथ मे ये भी है कि जब तक आप सपना नहीं देखेंगे तब तक आपके अंदर उसको पुरा करने की जिज्ञासा नहीं जागेगी। इसके साथ ही आप एक रण नीति के तहत उसको पाने की योजना बनाते हैं तब जाकर आप उस मकसद में कामयाब हो पाते हैं। आपको इंसान की जिंदगी मिली है तो इस जिंदगी का एक मकसद है और आपको जीते जी उस मकसद को पुरा करना है। ताकि आपके जाने के बाद लोग अगर आपको याद करे तो आपके द्वारा पूरा किये गए उस मकसद से लोग आपको जानें। 

एक पर्वतारोही बार बार अपनी मकसद में फेल हो जाता था काफी समय बाद लोग उसको देख कर फब्तियाँ कसने लगते थे। उसको काफी दुख होता था। फिर मौहल्ले के कुछ लोगों ने उस पर्वतारोही को प्रोत्साहित करने की एक योजना बनाई। उस कार्यक्रम में उसकी गर्लफ्रेंड भी आई थी और साथ में एक पहाड़ बनाकर लाई थी और उस ये दर्शाई थी कि उसका बॉयफ्रेंड उस पहाड़ पर चढ़ा हुआ है। उसकी गर्लफ्रेंड ने कहा की तुम भले ही दुनिया की नजरों में असफल हो लेकिन मेरी नजरों में तुम हीरो हो। दर असल उसकी गर्लफ्रेंड ने उसको प्रोत्साहित करने के लिए ये शब्द बोले थे।

ये देख कर उस पर्वतारोही के आंखों में आंसू आ गए उसी वक्त उसने सबके सामने उस बनावटी पहाड़ को देख कर बोला की तुझमें और मुझमें एक अंतर है।तुम अपनी ऊंचाई को अब बढ़ा नही सकते लेकिन मैं तुझ पर फतह करने के लिए तरह तरह के उपाय अपना सकता हूं।और यही कह कर उसने आगे बढ़ा और अगले प्रयास में वो अपने मकसद में कामयाब हो गया।

इस लिए हमें अपनी लगातार हो रही असफलताओं का सही मूल्यांकन भी करते रहना चाहिए।ताकि हम अपने मकसद को पूरा करने में सक्षम हो पाएं।


Post a Comment

0 Comments